कुमाऊं विश्वविद्यालय में छात्राें के लिए खुले अवसर, 12वीं के बाद मिलेगा बीएड करने का मौका

कुमाऊं विश्वविद्यालय में छात्राें के लिए खुले अवसर, 12वीं के बाद मिलेगा बीएड करने का मौका
Spread the love

नैनीताल। शिक्षा के क्षेत्र में सेवा की रुचि रखने वाले छात्रों के लिए अच्छी खबर है। कुमाऊं विश्वविद्यालय से पहली बार 12वीं के बाद बीएड करने का मौका मिलेगा। विवि प्रशासन की ओर से बीएबीएड के लिए प्रस्ताव तैयार कर पाठ्यक्रम शुरू करने की तैयारी कर ली गई है। पांच वर्षीय कोर्स को विवि के हरमिटेज भवन में शुरू किया जाएगा। विवि ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद से पहले चरण में 120 सीटों की अनुमति मांगी है। इस कोर्स को नए सत्र से शुरू किया जाएगा।

अब तक कुमाऊं विवि की ओर से सरकारी कॉलेजों के साथ ही संबद्ध कॉलेजों में बैचलर ऑफ एजुकेशन यानी बीएड के कोर्स संचालित किए जा रहे थे। पूर्व में यह कोर्स सिर्फ एक वर्ष का था। इसके बाद सेमेस्टर प्रणाली में बीएड पाठ्यक्रम को विस्तृत कर इसके कोर्स की अवधि को बढ़ाकर दो वर्ष कर दिया गया। लेकिन अब उच्च शिक्षा में नई शिक्षा नीति प्रभावी होने जा रही है। इसमें कई कोर्स ऐसे हैं, जोकि पांच वर्षों के लिए संचालित किए जाएंगे। इसमें एक बीएबीएड भी शामिल है। इसके लिए विवि के वरिष्ठ प्राध्यापक प्रो. अतुल जोशी को संयोजक बनाया गया है। कुमाऊं में यह कोर्स पहली बार शुरू होने जा रहा है।

हर साल दस हजार छात्र करते हैं आवेदन
बीएड के लिए हर वर्ष करीब दस हजार छात्र-छात्राएं आवेदन करते हैं। इसमें से तय सीटों के सापेक्ष ही आवेदकों को सीटें आवंटित की जाती हैं। जबकि योग्यता के स्थान पर स्नातक की जगह इंटर उत्तीर्ण ही छात्रों को लिया जाएगा।

बीए-एलएलबी में मिली है सफलता: कुविवि ने बीएएलएलबी के रूप में इससे पूर्व भी एकमात्र पांच वर्षीय कोर्स शुरू किया था। इसमें छात्रों ने खासी रुचि जाहिर की है। फिलहाल पहला बैच शुरू  किया है। विवि को पांच वर्षीय कोर्स में इससे पहले भी सफलता मिल चुकी है।
नई शिक्षा नीति के तहत विवि की ओर से नया कोर्स शुरू किया जा रहा है। छात्रों को 12वीं के बाद बीएड करने का मौका मिलेगा। नए सत्र में बीएबीएड की कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी।

प्रो. एनके जोशी, कुलपति कुविवि : फिलहाल शुरुआती दौर में बीएड की कक्षाएं हरमिटेज भवन में संचालित की जाएंगी। इसके बाद कोर्स को अन्यत्र शिफ्ट किया जाएगा।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *