पेयजल किल्लत को लेकर बनभूलपुरा में लोगों ने जल संस्थान मुर्दाबाद के लगाए नारे 

पेयजल किल्लत को लेकर बनभूलपुरा में लोगों ने जल संस्थान मुर्दाबाद के लगाए नारे 
Spread the love

 पिछले तीन माह से क्षेत्र में बनी हुई पेयजल की किल्लत

पेयजल किल्लत के चलते लगभग 5000 की आबादी प्रभावित

हल्द्वानी। पेयजल किल्लत को लेकर बनभूलपुरा वार्ड 32 और 33 के लोग जल संस्थान कार्यालय पहुंचे। लोगों नें संस्थान के खिलाफ नाराजगी व्यक्त करते हुए जोरदार प्रदर्शन किया। लोगों नें जल संस्थान मुर्दाबाद, जल संस्थान पानी दो आदी नारे लगाए। कहा की पिछले तीन माह से क्षेत्र में पेयजल किल्लत बनी हुई है। पेयजल का इंतजाम करने के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। लोगों को दूर दराज से पानी भरना पड़ रहा है। क्षेत्र निवासी इशरत अली नें बताया की क्षेत्र के दोनों वार्डो में पेयजल किल्लत के चलते लगभग 5000 की आबादी प्रभावित हो रही है। संस्थान को कई बार समस्या से अबगत कराया गया लेकिन संस्थान के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही। तंग आकर आज लोगों के सब्र का बांध टूट गया। इस मौके पर शोएब अंसारी,कल्लू, इकबाल सिद्दीकी, इरशाद सिद्दीकी, सिकंदर, किश्वर अली, इम्तियाज हुसैन आदी मौजूद रहे।

जल संस्थान और सिंचाई के खराब नलकूपों की मरम्मत का कार्य जारी हल्द्वानी। गर्मी में गौला की पेयजल लाइनों में लीकेज के अलावा जल संस्थान के नलकूपों के खराब होने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को शाह फार्म और खेड़ा का नलकूप खराब होने से दमुवाढूंगा और गौलापार के लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ा। वहीं सिंचाई के हिम्मतपुर नकैल और बागजाला के खराब नलकूपों की मरम्मत का कार्य भी नलकूप खंड की ओर से जारी रहा। इस दौरान प्रभावित घरों तक जल संस्थान की ओर से पानी बांटा गया। ईई आरएस लोशाली ने बताया कि शुक्रवार को जल संस्थान की ओर से खराब नलकूपों की मरम्मत का कार्य किया गया। जबकि प्रभावित घरों तक टैंकरों के माध्यम से आपूर्ति कराई गई।

शुक्रवार को निवर्तमान पार्षद रोहित कुमार नें शहर में हो रही पेयजल किल्ल्त को लेकर जल संस्थान कार्यालय में अधिशासी अभियंता आरएस लोशाली का घेराव किया। उन्होनें जल्द से जल्द शहर में हो रही पेयजल समस्या का निदान करने की मांग की कहा की भीषण गर्मी में शहर के कई इलाकों में पानी की किल्लत बनी हुई है। बनभूलपुरा, इंदिरा नगर, दमुवाढूंगा, गौजाजाली, राजपुरा, टनकपुर रोड आदी क्षेत्रों में लोग पेयजल समस्या से जूझ रहे हैं। लोग दो किलोमिटर दूर से पानी भर कर लाने को विवश हैं। पानी के अभाव में बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं।

लोगों का कीमती समय पानी का इंतजाम करने में बीत रहा है। विभाग सिर्फ कुछ टैंकर भेजकर अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ रहा है। कहा की विभाग की सभी योजनाएं सिर्फ कागजों तक सीमित हैं। शहर की जनता पेयजल किल्लत से त्रस्त हो चुकी है। कहा की आचार संहिता का पालन करते हुए आज वह सिर्फ चार लोगों के साथ जल संस्थान आए हैं यदी समस्या का जल्द निराकरण नहीं किया जाता तो जल्द ही आचार संहिता हटने के बाद वह जनता के साथ मिलकर संस्थान के खिलाफ उग्र आंदोलन करेंगे।

दिन भर बिजली की कटौती से परेशान रहे उपभोक्ता
हल्द्वानी शहर और ग्रामीण इलाकों में बिजली जाने से लोगों के परेशान होने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को भी कमलुआगांजा और कठघरिया क्षेत्र में बार बार बिजली जाने की समस्या बनी रही। वहीं लालकुंआ और गौलापार के भी कई इलाकों में कुछ देर के लिए कटौती होने पर उपभोक्ताओं को परेशानी झेलनी पड़ी। वहीं जब इस संबंध में विभाग का पक्ष लेने के लिए ऊर्जा निगम के अधिकारियों से संपर्क किया गया तो फोन रिसीव नहीं किया गया।

जल संस्थान और सिंचाई के खराब नलकूपों की मरम्मत का कार्य जारी

गर्मी में गौला की पेयजल लाइनों में लीकेज के अलावा जल संस्थान के नलकूपों के खराब होने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को शाह फार्म और खेड़ा का नलकूप खराब होने से दमुवाढूंगा और गौलापार के लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ा। वहीं सिंचाई के हिम्मतपुर नकैल और बागजाला के खराब नलकूपों की मरम्मत का कार्य भी नलकूप खंड की ओर से जारी रहा। इस दौरान प्रभावित घरों तक जल संस्थान की ओर से पानी बांटा गया। ईई आरएस लोशाली ने बताया कि शुक्रवार को जल संस्थान की ओर से खराब नलकूपों की मरम्मत का कार्य किया गया। जबकि प्रभावित घरों तक टैंकरों के माध्यम से आपूर्ति कराई गई।

जल निगम ने लाइन तो बिछाई लेकिन पानी नहीं पहुंचाया तीन गांवों के लोग प्यासे

हल्द्वानी शहर के दूरस्थ पीपलपोखरा एक गांव में तीन गांवों के लोग बीतेे दो सालों से पेयजल संकट झेल रहे हैं जेजेएम की योजना के तहत गांव में पेयजल लाइन बिछने के बाद भी पानी नहीं मिल पा रहा है। गांव में जल जीवन मिशन की योजना के तहत बीते तीन माह से पेयजल लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है लेकिन पानी अब भी नहीं पहुंच पाया है जिससे ग्रामीण परेशान हो रहे हैं।

पीपलपोखरा एक, दो और गजेसिंह क्षेत्र में जल जीवन मिशन की योजना से दो हजार परिवाराें को पानी देने के लिए साल 2021 से कार्य किया जा रहा है। पेयजल निगम की ओर से चार करोड़ 97 लाख 48 हजार की लागत से योजना के तहत घरों तक पानी पहुंचाने के लिए लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है। गांव में योजना से पूर्व गांव में गुजरौड़ा के पुराने नलकूप और जल संस्थान की पुरानी पेयजल योजना के तहत तलिया स्रोत से पानी मिलता था लेकिन वह भी बीते दो सालों से सूख चुका है। वर्तमान में जल निगम ने तारकेश्वर मंदिर के पास नलकूप ओवरहेड टैंक बनाकर गांवों में पेयजल लाइन बिछाकर कार्य तो शुरु कर दिया लेकिन भीषण गर्मी में विभाग पानी की आपूर्ति नहीं करा पाया है। जिससे दो हजार ग्रामीणों के लिए गर्मी में पेयजल संकट बना हुआ है।

admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *