वाटर फास्टिंग का बढ़ रहा है क्रेज, क्या आप जानते हैं ये कितना है सेफ?

वाटर फास्टिंग का बढ़ रहा है क्रेज, क्या आप जानते हैं ये कितना है सेफ?
Spread the love

वाटर फास्टिंग के दौरान लोग पानी के अलावा कुछ नहीं खाते हैं. कई लोग तेजी से वजन घटाने के लिए बहुत अच्छा मानते हैं तो वहीं कुछ लोगों का मानना है कि यह सभी लोगों के लिए इस तरह की फास्टिंग सही नहीं है. क्योंकि शरीर पर इसका बुरा असर होता है।

वाटर फास्टिंग शरीर के लिए ठीक है या नहीं?
आजकल ओवरवेट और माटापे से करोड़ों लोग परेशान है.लोग आज के समय में वजन कम करने के लिए तरह-तरह का उपाय निकाल रहे हैं। आजकल पूरी दुनिया में वजन कम करने के लिए एक खास तरह की फास्टिंग ट्रेंड का हिस्सा बनती जा रही है. वह है वाटर फास्टिंग।वाटर फास्टिंग में लोग 24-72 घंटे तक बिना कुछ खाए सिर्फ पानी पीकर रहते हैं. कई लोग इस फास्टिंग को 7 दिनों तक करते हैं ताकि से तेजी से वजन कम हो सके। अब सवाल यह उठता है कि यह शरीर के लिए कितना फायदेमंद होता है या नहीं?

सभी के लिए वाटर फास्टिंग ठीक नहीं है
हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक वाटर फास्टिंग शरीर के लिए अच्छा तो होता है क्योंकि इससे शरीर की जितनी भी टॉक्सिन होती है वह बाहर निकल जाती है। लेकिन लोगों को सिर्फ पानी ही नहीं बल्कि नींबू पानी, नारियल पानी और शिकंजी भी पीना चाहिए. यह सभी ड्रिंक्स शरीर में टॉक्सिक एलीमेंट को बाहर निकालकर शरीर को हाइड्रेटेड रखने का काम करते हैं। इस तरह की फास्टिंग करने से कैलोरी और कार्ब्स इनटेक अचानक से कम हो जाता है. जिससे शरीर को काफी ज्यादा फायदा मिलता है. हालांकि वाटर फास्टिंग कुछ लोगों के लिए ठीक है यह हर किसी के लिए फायदेमंद नहीं हो सकता है. कुछ लोगों के लिए यह बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

24-48 घंटे तक वाटर फास्टिंग शरीर के लिए ठीक है लेकिन इससे ज्यादा देर करने से शरीर में एंजाइम का बैलेंस बिगडऩे लगता है. जिसके कारण लॉन्ग टर्म दिक्कत हो सकती है. सबसे दिलचस्प बात यह है कि वाटर फास्टिंग शरीर को डिटॉक्स करने के लिए बहुत अच्छा होता है. लेकिन इससे वजन को तुरंत कंट्रोल नहीं किया जा सकता है। जिन लोगों को लगता है कि वह 2-3 दिन में पानी पीकर वजन को कंट्रोल में कर लेंगे तो ऐसा बिल्कुल नहीं है. वाटर फास्टिंग के बाद हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज बेहद जरूरी है इससे वजन कंट्रोल में रहता है।

किन लोगों को नहीं करना चाहिए वाटर फास्टिंग
डायबिटीज, लो ब्लड प्रेशर, प्रेग्नेंट महिला, ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं को वाटर फास्टिंग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। अगर आप इस तरह की फास्टिंग करने का सोच भी रहे हैं तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें. क्योंकि इससे तबीयत बिगड़ सकती है। इसके अलावा इंस्टेंट वेट लॉस के लिए वाटर फास्टिंग सही नहीं है कि जल्दबाजी के चक्कर में आपकी तबीयत खराब हो सकती है। ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि अचानक से वजन कम होने लगता है।

admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *